कांग्रेस की डूबती नैया के खेवनहार बनेंगे “महराज”

0

JNI NEWS : 29-01-2015 | By : alok | In : अमेठी, सुर्खियां

29_07_2014-29SanjaySingh1

 

 

रिपोर्ट-मेराज ख़ान
अमेठी:कई दशक से उप्र की सियासत में वजूद तलाश रही कांग्रेस लोकसभा चुनाव में करारी मात के बाद अब मंथन के दौर में है। डगमगाती नैया भंवर में हिचकोले खा रही। ऐसे में कांग्रेस का अस्तित्व बचाने के साथ राज बरकरार रखने के लिए अब ‘महाराज’ पर दांव लगाने की तैयारी हो चुकी है। नेतृत्व के संकेत पर पुराने कांग्रेसी ताजपोशी का रोड मैप भी तैयार करने में जुट गए हैं। इसकी बानगी कांग्रेसी खेमों में साफ झलकने लगी है।

4431

महाराज यानि अमेठी राजघराने के मुखिया सांसद डॉ. संजय सिंह रायबरेली, अमेठी के साथ ही आसपास दो दर्जन से ज्यादा जिलों में तगड़ी पैठ के साथ ही पूरे प्रदेश में कट्टर समर्थकों का जुड़ाव रखते हैं। इन दिनों वह सूबे की खाक भी छान रहे हैं। कांग्रेस कमेटियों के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक खुलेआम हर मंच से डॉ. संजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस में जान पड़ने की हुंकार भर रहे हैं। जिले-जिले में आयोजित हो रहे मनरेगा के मंच में ग्रामीणों व किसानों के सम्मेलन तो शहर इकाइयों की जनसभाओं के जरिए वह अपनी पैठ बनाने में जुटे हैं।
राज्यसभा सांसद डॉ. संजय सिंह अस्सी के दशक में युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए किसानों के आंदोलन में कई बार बड़े संघर्ष के गवाह भी बन चुके हैं। संजय गांधी व राजीव गांधी के करीबी रहे श्री सिंह केंद्र में मंत्री भी रहे हैं। बीच में कुछ दिनों कांग्रेस से खटास भी रही। बीते लोकसभा चुनाव में अमेठी से राहुल गांधी का रास्ता सुगम करने में मदद के लिए सोनिया गांधी ने उन्हें राज्यसभा भेजा, यहां से फिर करीबी बढ़ी। और अब एक बार फिर महराज को यूपी में कांग्रेस का खेवनहार बनाने की तयारी शुरू हो गयी है

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-