नेहरू के गढ़ में गरीबी बनी अभिशाप

0

JNI NEWS : 25-12-2014 | By : alok | In : अमेठी, तिलोई, सुर्खियां

 

रिपोर्ट-मेराज़ ख़ान (ब्यूरो चीफ अमेठी )

IMG-20141226-WA0102

 

अमेठी: देश की वीवीआईपी संसदीय क्षेत्र अमेठी जिसे लोग नेहरू गांधी परिवार का गढ़ कहते है आज गरीबो के लिए महफूज़ नहीं रह गयी है, ऐसा हम नहीं कहते बल्कि थाना शिवरतनगंज के शंकर गाँव की रहने वाली एक विधवा बुजुर्ग महिला ख़ालिकुन निशाँ कहती है, दरअसल अभी दो दिन पहले गाँव के गाँव के ही कुछ दबंगो की निगाह इस असहाय वृद्ध महिला की जमीन पर पड़ गयी फिर क्या आये दिन दबंग लोग महिला के घर उसे धमकाने और जमीन खाली कराने पहुँचने लगे, अपने जीवन के सुनहरे पलो को समेटे वृद्ध महिला ने ये घर खाली करने से साफ़ इंकार कर दिया तो गुस्साए दबंगो ने इसके घर के छप्पर में आग लगा दी, डरी सहमी इस महिला ने इलाके के थानेदार से जब शिकायत करनी चाही तो पुलिस ने भी सहायता करने में हाथ खड़े कर दिए,
फिर भी इस महिला ने जमीन खाली नहीं की और आखिरकार दबंगो ने अपनी पहुँच दिखाते हुए कल इस महिला की जमीन को विवादित बताते हुए इलाके की मौजूदगी में इस वृद्ध महिला के मकान के चारो तरफ जेसीबी मशीन लगाकर गहरे-गहरे गड्ढे खुदवा दिए

IMG-20141226-WA0100

 

 

IMG-20141226-WA0101

 

 

 

 

 

 

 

 

 

इस महिला के मुताबिक इलाके की पुलिस और प्रशासन दोनों इन दबंगो के आगे बेबस है और खुलकर इनका साथ दे रहा है, इस ज्यादती की शिकायत सुनने वाला कोई अधिकारी नहीं है और ये महिला बेबस है लाचार है

 

जेएनआई न्यूज़ की टीम ने इस बाबत तिलोई की उपजिलाधिकारी बंदिता श्रीवास्तव से बात की गयी तो उन्होंने जेसीबी से वृद्ध महिला के घर के अगल-बगल खुदाई करवाने से साफ़ इंकार कर दिया लेकिन बताया की उक्त जमीन चूँकि विवादित है लिहाजा उसकी पैमाइश के लिये राजस्व की टीम भेजी गयी थी

3f4f040

 

सवाल ये है की क्या गरीब की सुनने वाला इस जिले में अब कोई भी अधिकारी शेष नहीं है जबकि इस महिला ने अपने ऊपर हो ज्यादतियों का पूरा खाका बनाकर यहाँ के हुक़ुमरानो को महीनो पहले से दे रक्खा है और साथ ही इस मामले को लेकर लगातार अधिकारिओ से रहम की भीख तक मांग रही है लेकिन जैसे लगता है की इन अधिकारिओ की आँखों के आंसू सूख चुके है

1378362126_amethi

नेहरू के गढ़ में सही-गलत का फैसला और जांच की निष्पक्षता अब सवालिया घेरे में है जो काम अधिकारिओ को करना चाहिए वो गाँव के दबंग कर रहे है लेकिन ये बात अब वृद्ध महिला इलाके के सांसद राहुल गांधी तक पहुँचाने की कोशिश में है और अधिकारिओ की मूकदर्शिता के प्रति अपनी संवेदनाओ को पूरा खाका राहुल को सुनाने की तैयारी कर रही है

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-